Himachal : 3 किलोमीटर चढ़ाई चढ़ होमवर्क चेक कर रहे भविष्य निर्माता

692
Future Manufacturers Checking Homework Climbing 3 Kilometers

कोरोना संकटकाल में बच्चों का भविष्य संवारने के लिए हिमाचल के कांगड़ा जिले के  धर्मशाला में कई शिक्षक तीन किलोमीटर की चढ़ाई चढ़ उनके गांव पहुंचकर पढ़ाई करवा रहे हैं। होमवर्क चेक करने के साथ सवालों के जवाब दे रहे हैं। ऑनलाइन पढ़ाई में पेश आ रही दिक्कतों का भी समाधान कर रहे हैं। वहीं, सितंबर माह में शुरू होने वाली फर्स्ट टर्म परीक्षाओं की तैयारियों का जायजा भी घर-घर जाकर लिया जा रहा है। राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला कस्बा नरवाणा के शिक्षकों ने ऐसा कर विद्यार्थियों के प्रति अपने स्नेह को बखूबी दिखाया है।

प्रधानाचार्य प्रदीप शर्मा के नेतृत्व में शिक्षक दुर्गेश नंदनी, सोनू जरियाल, कमलेश, मदन लाल, चंद्रमोहन और देवेंद्र स्कूल से करीब ढाई-तीन किलोमीटर दूर कंडी गांव पहुंच रहे हैं। इस कार्य में अध्यापक पिछले कई दिनों से जुटे हुए हैं ताकि, उनके स्कूल में अध्ययनरत बच्चों का भविष्य खराब न हो। प्रधानाचार्य प्रदीप ने बताया कि उनके स्कूल में छठी कक्षा से लेकर जमा दो तक करीब 160 छात्र-छात्राएं अध्ययनरत हैं। कोरोना संकट के चलते इन छात्रों का भविष्य दांव पर न लगे, इसके लिए स्कूल के अध्यापक छात्रों के घर-घर जाकर होमवर्क चेक कर रहे हैं।  

कंडी गांव के कुछेक स्थानों पर सिग्नल की दिक्कत

स्कूल के अध्यापकों ने कंडी गांव पहुंचकर वहां मोबाइल सिग्नल को भी चेक किया है। कुछेक स्थानों पर सिग्नल की दिक्कत आई है, जोकि पेपरों के दौरान छात्रों के लिए मुसीबत बन सकती है। इसका समाधान करने के लिए अध्यापकों ने कई कदम उठाए हैं। स्कूल के अध्यापक इस बात का भी विशेष ध्यान रख रहे हैं कि मोबाइल सिग्नल की वजह से उनके छात्रों के पेपर न छूटें।