अति दुःखद : परीक्षा के तनाव से परेशान थी इंटरमीडिएट की छात्रा, जहर खाकर दे दी जान

0
813

एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। यहां धनघटा क्षेत्र के लहुरेगांव की रहने वाली इंटरमीडिएट की छात्रा ने जहरीला पदार्थ सेवन करके जान दे दी। परिजनों ने बोर्ड परीक्षा की टेंशन की वजह से छात्रा के जरिए आत्मघाती कदम उठाने का जिक्र किया। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद परिजनों को सौंप दिया।लहुरेगांव निवासी 18 वर्षीय आरती पुत्री रामफेर इंटरमीडिएट में पढ़ती थी। मंगलवार को छात्रा को बोर्ड की परीक्षा देनी थी। सोमवार की रात में घर पर ही छात्रा ने जहरीला पदार्थ का सेवन कर लिया। जब छात्रा को उल्टी शुरू हुई तो परिजनों को घटना की जानकारी हुई।

परिजन छात्रा को आनन-फानन में रात में ही सीएचसी मलौली ले गए, जहां से प्राथमिक उपचार के बाद डॉक्टरों ने जिला अस्पताल रेफर कर दिया। जिला अस्पताल से छात्रा मेडिकल कॉलेज के लिए रेफर हुई। परिजन छात्रा को लेकर मेडिकल कॉलेज जा रहे थे कि रास्तें में उसकी मौत हो गई। सूचना पर पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया।

पोस्टमार्टम हाऊस पर पहुंचे पीड़ित परिजन गमगीन थे। छात्रा के बड़े भाई रामस्वरूप और बबलू ने बताया कि वह पांच भाई और तीन बहन है। सभी भाई- बहनों में आरती छठें नंबर पर थी। बहन आरती इंटरमीडिएट में पढ़ती थी। मंगलवार को बहन की परीक्षा भी देनी थी। बहन परीक्षा को लेकर टेंशन में थी और बार- बार यहीं कह रही थी कि परीक्षा देने नहीं जाएंगी।

सिर में दर्द बताई थी तो निकट के एक प्राइवेट चिकित्सक से दवा कराया गया था। रात में बहन ने कीटनाशक खा ली और जब तबीयत बिगड़ तब जाकर घटना की जानकारी हुई। बहन के आत्मघाती कदम उठाने की सिर्फ यहीं एक वजह समझ में आ रही हैं। कलेक्ट्रेट चौकी इंचार्ज ने बताया कि पूछताछ में परिजनों बोर्ड परीक्षा के टेंशन में ही छात्रा के जरिए आत्मघाती कदम उठाने की वजह बताई हैं। शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद परिजनों को सौंप दिया गया।