निरमण्ड के विद्या मंदिर में संस्कृत सप्ताह

0
315
Vidya Mandir of Nirmand

निरमण्ड के विद्या मंदिर में संस्कृत सप्ताह के पंचम दिवस वर्ग श: कथा कथन प्रतियोगिता का शुभारंभ सेवानिवृत्त शास्त्री हर भजन शर्मा व कार्यक्रम अध्यक्ष राकेश कुमार की अध्यक्षता में संपन्न हुआ। कार्यक्रम शुभारंभ मुख्य अतिथि महोदय व कार्यक्रम के अध्यक्ष महोदय ने द्वीप प्रज्वलित करके किया।

मुख्य अतिथि महोदय व कार्यक्रम के अध्यक्ष महोदय का परिचय संस्कृत सप्ताह के संयोजक व विद्या मंदिर निरमण्ड के संस्कृत आचार्य रुप कमल ने करवाया। मुख्य अतिथि महोदय का स्वागत कार्यक्रम के अध्यक्ष राकेश कुमार ने बैज पहनाकर किया व कार्यक्रम के अध्यक्ष महोदय का स्वागत विद्या मंदिर की कला आचार्य ममता शर्मा ने बैज पहना कर किया। वर्ग, बाल वर्ग, व किशोर वर्ग के भैया एवं दीदीयों ने इस कार्यक्रम में भाग लिया।

मुख्य अतिथि महोदय ने अपने संभाषण में कहा कि संस्कृत भाषा सबसे प्राचीन भाषा है और इसी में भारतीय संस्कृति निहित है। इसी भाषा के कारण भारत विश्व गुरु की उपाधि से सुशोभित हुआ था। अंत में उन्होंने इस सहरानीय कार्य के संपूर्ण विद्या मंदिर परिवार का धंयवाद किया तथा प्रतिभागियों को बधाई दी।

कार्यक्रम में मंच संचालन दशम कक्षा की दीदी यामिनी शर्मा व सुनिधि मैहता ने किया। अंत कार्यक्रम के संयोजक रुप कमल ने संपूर्ण विद्या मंदिर परिवार की ओर से मुख्य अतिथि महोदय व कार्यक्रम के अध्यक्ष महोदय का धन्यवाद किया।