हिमाचल से 4 पड़ोसी राज्यों के लिए चलेंगी HRTC बसें, दिल्ली को लेकर संशय

2685
Big News preparing to run HRTC buses in other states
Big News preparing to run HRTC buses in other states

कोरोना काल (Corona cases) के बीच अब हिमाचल प्रदेश से पड़ोसी राज्यों के लिए जल्द ही हिमाचल पथ परिवहन निगम (Hrtc) की बस सेवा शुरू होगी. हालांकि, दिल्ली के लिए बसें चलाने को लेकर संशय है, लेकिन 5 राज्यों के लिए सरकार जल्द ही बसें (Buses) चलाने जा रही है. हिमाचल के परिवहन मंत्री विक्रम सिंह ने यह जानकारी दी है.

हिमाचल के परिवहन मंत्री विक्रम सिंह ने कहा कि बाहरी राज्यों के लिए भी बहुत जल्द बस सेवाएं बहाल की जाएंगी. पड़ोसी राज्य हरियाणा, पंजाब, चंडीगढ़ और उत्तराखंड के लिए बस सेवाएं बहाल करने को पड़ोसी राज्यों से हरी झंडी मिल चुकी है. लेकिन, दिल्ली के लिए अभी संशय है. दरअसल, परिवहन मंत्री विक्रम सिंह ठाकुर की अध्यक्षता में बुधवार को सड़क सुरक्षा को और अधिक प्रभावी बनाने पर एचआरटीसी अधिकारियों और परिवहन विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक में गहन चर्चा हुई है.

क्या बोले परिवहन मंत्री विक्रम सिंह ठाकुर
बैठक के बाद मीडिया से बातचीत में परिवहन मंत्री विक्रम सिंह ठाकुर ने कहा कि सड़क सुरक्षा को और अधिक प्रभावी बनाया जाएगा. प्रदेश में बस सफर को और अधिक सुविधाजनक और सुरक्षित बनाने के लिए सरकारी स्तर पर कई जागरूकता कार्यक्रम चलाए गए हैं, जिसके सकारात्मक परिणाम भी देखने को मिल रहे हैं. प्रदेश में सालाना 1200 के करीब लोग सड़क हादसों में अपनी जान गवांते हैं. हालांकि, पिछले एक-दो वर्षों में सड़क हादसों में जान गंवाने वाले लोगों के आंकड़ों में कमी आई है. इसके बावजूद सरकार सड़क सुरक्षा को लेकर बेहद गंभीर है. इसी कड़ी में राज्य विकास परिवहन और सड़क सुरक्षा परिषद की गुरुवार को शिमला में दूसरी बैठक हुई.
कोरोना काल में हुआ नुकसान

विक्रम सिंह ठाकुर ने कहा कि कोरोना काल में पथ परिवहन निगम को आय में 82 फीसदी का नुकसान हुआ है. उन्होंने कहा कि कोरोना काल के पांच महीनों के दौरान 278 करोड़ रुपए का शुद्ध नुकसान हिमाचल पथ परिवहन निगम को झेलना पड़ा. लोगों की सुविधा के लिए परिवहन निगम घाटे पर भी बसों को चलाने चला रही है. प्रदेश में 50 फीसदी एचआरटीसी रूट्स घाटे पर चल रहे हैं. विक्रम सिंह ठाकुर ने कहा कि प्रदेश के अंदर भीतर करीब 1700 रूट पर 100 फीसदी सीट के साथ बस चलाई जा रही है. विक्रम सिंह ठाकुर ने कहा कि हिमाचल पथ परिवहन निगम को घाटे से उबारने के लिए कारगर कदम उठाए जा रहे हैं.

किराये पर क्या बोले मंत्री
मंत्री ने कहा कि पड़ोसी राज्यों की अपेक्षा बसों में किराया ज्यादा जरूर है, लेकिन किराया बढ़ाना ही सरकार का मकसद नहीं है. उन्‍होंने कहा कि लोगों को सुविधा और सुरक्षित सफर देना भी सरकार की प्राथमिकता है. इस पर सरकार गंभीरता से काम कर रही है.