हिमाचल में बिजली उपभोक्ताओं को झटका, महंगी हुई बिजली

712
Himachal electricity became expensive

हिमाचल प्रदेश सरकार ने बिजली (Electricity) की अधिक खपत करने वाले घरेलू उपभोक्ताओं को बड़ा झटका दिया है. प्रति माह 125 यूनिट्स से अधिक बिजली खपत करने वाले उपभोक्ताओं को दी जाने वाली सब्सिडी (Subsidy) में कटौती की गई है. ऐसे में अब जुलाई से बढ़े हुए बिजली बिल आएंगे. नए बिजली बिलों पर 40 से 113 रुपये की बढ़ोतरी होने की संभावना है. 125 यूनिट तक बिजली खपत पर पहले की तरह ही सब्सिडी मिलती रहेगी.

125 यूनिट तक बिजली की खपत करने वाले 11 लाख उपभोक्ताओं को 18 फीसदी सब्सिडी मिलती थी. ऐसे में सब्सिडी का युक्तिकरण किया गया है. गुरुवार को मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में हुई मंत्रिमंडल की बैठक में इस प्रस्ताव को मंजूरी दी गई. मंत्रिमंडल के फैसले से सरकार को प्रति वर्ष करीब सौ करोड़ की सब्सिडी की बचत होगी.

खपत के स्लैब में बदलाव
दरअसल, सरकार ने बिजली यूनिट के स्लैब पर सब्सिडी को घटाने का फैसला लिया है. प्रतिवर्ष 450 करोड़ रुपये की सब्सिडी बिजली बोर्ड की दी जाती है. इसमें से 18 प्रतिशत सब्सिडी केवल ऐसे 11 लाख उपभोक्ताओं को दी जाती है, जिनकी प्रतिमाह खपत 125 यूनिट से कम है. वहीं, 82 फीसदी सब्सिडी 9 लाख ऐसे घरेलू उपभोक्ताओं को प्रदान की जाती है, जो 125 यूनिट प्रतिमाह से अधिक बिजली की खपत करते हैं. अब सरकार ने इसमें युक्तिकरण किया है. जैसे जैसे बिजली की खपत बढ़ेगी, वैसे-वैसे मासिक बिलों में सब्सिडी कम होती जाएगी और बिल बढ़ता जाएगा.

यह है नया स्‍लैब

नए स्लैब के अनुसार, 125 यूनिट्स तक सब्सिडी मिलेगी और पुरानी दरों के अनुसार ही बिल आएगा. 125 से 200 यूनिट्स खपत करने वालों के बिल में 40 से 113 रुपये तक की बढ़ोत्‍तरी होगी. 201-300 यूनिट्स की खपत पर 115 से 200 रुपये बढ़ जाएंगे. 301-400 यूनिट्स पर 200 से 290 रुपये और 401 से अधिक यूनिट्स पर 300 से 400 रुपये की वृद्धि की संभावना है.

विवाद न हो इसलिए दूसरे राज्यों के रेट बताए?
सरकार ने अपने इस फैसले को सही ठहराने के लिए दूसरे राज्यों के रेट भी बताए हैं, ताकि लोग विरोध न करें. पंजाब और उत्तराखंड में 125 से 300 यूनिट प्रतिमाह बिजली खपत पर 6.59 रुपये तथा 3.27 रुपये प्रति यूनिट दर हैं. हिमाचल प्रदेश में यह दर 2.62 रुपये है. 300 यूनिट प्रतिमाह से अधिक बिजली खपत पर पंजाब, उत्तराखंड, हरियाणा और दिल्ली में क्रमश: 7.06 रुपये, 5.90 रुपये, 5.72 रुपये तथा 6.50 रुपये प्रति यूनिट रेट है, वहीं, हिमाचल प्रदेश में यह दर 3.93 रुपये प्रति यूनिट है. युक्तिकरण के बाद भी प्रदेश में पड़ोसी राज्यों की तुलना में वसूली जाने वाली बिजली की दरें कम हैं और यह औसतन 3.36 प्रति यूनिट है.