Himachal में रोजाना 3 सुसाइड : लॉकडाउन के 3 महीने में करीब 250 लोगों ने की आत्महत्या!

2684
3 suicides daily in Himachal
Himachal में रोजाना 3 सुसाइड

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) की राजधानी शिमला (Shimla) के न्यू-शिमला 20 साल के युवक ने घर में युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या (Suicide) कर ली. अंशुल कश्यप (20) न्यू शिमला की पूर्व महिला पार्षद (Councilor) का बेटा था. लेकिन, उसने यह आत्मघाती कदम क्यों उठाया, पता नहीं चल पाया है. ऊना में गांव लोअर देहलां के वार्ड 7 निवासी 37 वर्षीय ने फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली है.

लोअर देहलां निवासी शेर सिंह कारोबार में घाटे और बीमारी के चलते तनाव में था. इसी तरह बीते सोमवार को शिमला (Shimla), कुल्लू और मंडी (Mandi) में तीन लोगों ने सुसाइड कर लिया. ऐसे कई मामले रोजाना सूबे में आ रह हैं. अहम बात यह है कि कोरोना काल में मानसिक तनाव के चलते लोग ऐसे आत्मघाती कदम उठा रहे हैं.

6 महीने में 365 सुसाइड केस

हिमाचल प्रदेश में 2020 में छह महीने में कुल 365 सुसाइड केस रिपोर्ट हुए हैं.अकेले तीन महीनों अप्रैल, मई और जून में 250 लोगों ने सुसाइड किया है. जून में 114 लोगों ने सुसाइड किया है. अप्रैल में 47 और मई में 88 लोगों ने सुसाइड किया है. साल 2020 में सबसे अधिक केस 54 कांगड़ा जिले में रिपोर्ट हुए हैं. इसके बाद मंडी में 43 केस सामने आए हैं. शिमला में 23, सिरमौर में 20, कुल्लू में 15, ऊना में 21, सोलन में 13, बिलासपुर में 14, चंबा में 6, हमीरपुर में 16, किन्नौर में पांच और बद्दी में 7 सुसाइड पेश आए हैं. केवल लाहौल स्पीति में कोई मामला नहीं है.

दस साल में पांच हजार लोगों ने दी जान

बीते 3 माह में लॉकडाउन के बीच 250 सुसाइड केस आए हैं. अप्रैल और मई 2018 में यह आंकड़ा 122 था. वहीं, इन दो महीनों में 14 मामले (306 IPC) और 122 मामले (174-CRPC) के हैं. ब्लैक ब्लेंकेट एजूकेशन सोसायटी की ओर से किए सर्वे के अनुसार, 2010 से लगातार 2016 तक प्रदेश में खुदकुशी करने वाले मामलों में बढ़ोतरी हुई है.बीते दस साल में 5000 लोगों ने हिमाचल में सुसाइड किया है. 2016 में 642 लोगों ने अपनी जीवन लीला समाप्त की. वहीं, साल 2014 में 644 लोगों ने सुसाइड किया. इस तरह औसतन हर साल पांच सौ से अधिक लोग हिमाचल में सुसाइड कर रहे हैं

https://youtu.be/09mRh1KnAr0