शिमला: ढारे में आग लगने से 2 साल का मासूम जिंदा जला

0
510
2 year old innocent burnt alive due to fire Dhara in shimla

हिमाचल के शिमला स्थित थाना ढली के तहत डाक बंगला के पास ढारे में लगी आग में एक दो साल का मासूम जिंदा जल गया। घटना के वक्त घर में नेपाली परिवार के छह बच्चे ही मौजूद थे। मां-बाप काम के चलते कहीं बाहर गए हुए थे। आग देर रात लगी। आग लगने के बाद सभी बच्चे बाहर निकल आए लेकिन दो साल का मासूम निखिल ढारे के अंदर ही आग की लपटों से घिर गया। आसपास के लोग जब तक बच्चे के पास पहुंचे वह काफी झुलस चुका था, उसने कुछ देर बाद ही दम तोड़ दिया। आईजीएमसी में पोस्टमार्टम करवाने के बाद शव परिजनों को सौंप दिया है।  

पुलिस के मुताबिक देर रात हुई इस घटना की सूचना मिलने पर छोटा शिमला से अग्निशमन विभाग का बचाव दल मौके के लिए रवाना हुआ। लेकिन वहां मौके पर मौजूद लोगों ने खुद ही आग पर काबू पा लिया। इस कारण बचाव दल को आधे रास्ते से ही लौटा दिया। नेपाली शांत बहादुर के ढारे में उसका आठ सदस्यीय परिवार रह रहा था। इसमें नेपाली, उसकी पत्नी और छह बच्चे रह रहे थे। अन्य आग लगने के बाद सुरक्षित निकल गए लेकिन दो साल का मासूम निखिल आग में घिर गया। अधिक झुलसने के कारण बच्चे ने बाद में दम तोड़ दिया।  एएसपी प्रवीर ठाकुर ने घटना की पुष्टि करते बताया कि फोरेंसिक टीम ने मौके का निरीक्षण कर साक्ष्य जुटाए हैं, मामला दर्ज करने के बाद पुलिस की जांच जारी है।

समरहिल क्षेत्र में तीन दुकानें जलीं, लाखों रुपये की क्षति
राजधानी के समरहिल क्षेत्र में शुक्रवार रात करीब दो बजे एक चाइनीज फूड दुकान और इसके साथ एक सब्जी तथा कबाड़ का शेड जलकर राख हो गया। इसमें करीब दो लाख का नुकसान बताया जा रहा है। घटना के कारणों का अभी तक पता नहीं चल पाया है।  जानकारी के मुताबिक रात दो बजे सूचना मिलने के बाद बालूगंज फायर स्टेशन से एक वाटर टेंडर और एक बाउजर माल रोड से वाटर टेंडर के साथ सब फायर ऑफिसर सुधाकर की अगुवाई में  मौके पर पहुंचे।

अग्निशमन विभाग के बचाव दल ने पुलिस जवानों के साथ मिलकर कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। ढाबे में रखे दो सिलिंडर को समय रहते बाहर निकाल लिया था जिससे बड़ा नुकसान होने से बच गया।  नगर निगम और बिजली विभाग के कर्मचारियों ने मौके पर पहुंच कर बिजली लाइन काट दी थी। इसके बाद हाइड्रेंट की लाइन से पाइप जोड़कर आग की लपटों पर पानी की बौछारें छोड़ी गईं। सुबह करीब चार बजे तक आग शांत कर बचाव दल वापस लौटा।

मंडलीय अग्निशमन अधिकारी डीसी शर्मा ने कहा कि इस घटना में साथ लगते मकान में एटीएम सहित करीब दो करोड़ की संपत्ति को सुरक्षित बचा लिया है। सुधाकर ने बताया कि आग लगने के कारणों का पता नहीं चल पाया है। बताया कि आग से विंद्र कौर, सुरेंद्र गुप्ता, भूपेंद्र और वासु की दुकानों को नुकसान पहुंचा है।