108 एम्बुलेंस हाफी बीच रास्ते, मरीज को ऐसे पहुंचाया अस्पताल

0
235
108 ambulance Hafi beach road

बता दे की चंबा जिला के भटियात क्षेत्र के दायरे में आने वाली ग्राम पंचायत भगढार के एक गांव से सोमवार को एक महिला को पीठ पर उठाकर 2 घंटे पैदल चलकर सड़क तक पहुंचाया और फिर उसे सिविल अस्पताल डल्हौजी ले जाया गया। वहां उक्त महिला को एक दिन रखने के बाद उसकी तबीयत में सुधार न होता देख डॉक्टर ने उसे मंगलवार सुबह टांडा के लिए रैफर किया। डल्हौजी की 108 एम्बुलैंस वहां न होने के कारण उक्त महिला को बनीखेत की 108 एम्बुलैंस में उसे भेजा गया।

पुरानी व खटारा होने के कारण टांडा के लिए जाते समय यह एम्बुलैंस बनीखेत से आगे पंजपुला नामक स्थान पर ब्रेक में गड़बड़ होने के कारण एक घंटा वहीं खड़ी रही और बली राम निवासी भगडार जोकि अपनी माता के साथ इस एम्बुलैंस में सवार था, ने बताया कि ऐसी 108 एम्बुलैंस सेवा में लगा दी है जो सही वक्त पर मरीज को उसकी मंजिल तक नहीं पहुंचा सकती। एक घंटे बाद एम्बुलैंस चालक ने जुगाड़ लगाकर हमें धीमी रफ्तार से नूरपुर पहुंचाया, जिसके बाद हमें दूसरी एम्बुलैंस सेवा दी गई और टांडा के लिए रवाना हुए। यह बहुत बड़ी गनीमत रही कि मेरी माता के साथ कोई घटना घटित नहीं हुई लेकिन संबंधित विभाग को इससे पहले कि किसी के साथ कोई अनहोनी हो, इस एम्बुलैंस को बदलना चाहिए ताकि मरीज सही वक्त पर अपनी मंजिल तक पहुंच पाएं।